Diwali 2021: लक्ष्मी पूजन का कब है शुभ मुहूर्त, जानिए पूजन विधि

Diwali 2021: दिवाली क्या है ? लक्ष्मी पूजन का कब है शुभ मुहूर्त, राशि के अनुसार कैसा रहेगा आपके लिए दीपावली का त्यौहार ?

Diwali 2021


दिवाली क्या है ? (what is Diwali?) 

दिवाली का त्यौहार दशहरे के 21 दिन बाद कार्तिक मास की अमावस्या को आता है। वैसे इस त्यौहार की धूम-धाम कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी से कार्तिक शुक्ल द्वितीय अर्थात् पाँच दिनों तक रहती है। दीवाली के पर्व की यह विशेषता है कि इसके साथ चार त्यौहार और मनाये जाते हैं।दिवाली का उत्साह एक दिन नहीं, अपितु पूरे सप्ताह भर रहता है।
    दिवाली का त्यौहार वर्षा ऋतु के समाप्त होने और शरद ऋतु की प्रारंभ होने का संकेत होता है। दिवाली के त्यौहार पर मौसम गुलाबी ठंड का होता है। जिससे चारों और खुशहाली का मौसम बनता है। बीते साल को कोरोना वायरस के चलते लोगों ने दीवाली बेहद सतर्कता के साथ मनाई थी। कुछ ऐसी ही स्थिति इस बार भी रहेगी, ऐसे में कोरोना के चलते लोगों सावधानी से दीवाली मनानी चाहिए, जिसको लेकर सरकार की ओर से समय- समय पर लोगों के लिए गाइडलाइंस जारी की जा रही है।
    भारतवर्ष में मनाए जाने वाले सभी त्यौहारों में दिवाली का सामाजिक और धार्मिक दोनों दृष्टि से अत्यधिक महत्त्व है। इसे दीपोत्सव भी कहते हैं। ‘तमसो मा ज्योतिर्गमय’ अर्थात (हे भगवान!) मुझे अन्धकार से प्रकाश की ओर ले जाइए। यह उपनिषदों की आज्ञा है। इसे सिख, बौद्ध तथा जैन धर्म के लोग भी मनाते हैं। जैन धर्म के लोग इसे महावीर के मोक्ष दिवस के रूप में मनाते हैं और सिख समुदाय इसे बन्दी छोड़ दिवस के रूप में मनाता है।
        माना जाता है कि दिवाली के दिन अयोध्या के राजा राम अपने चौदह वर्ष के वनवास के पश्चात लौटे थे। अयोध्यावासियों का हृदय अपने परम प्रिय राजा के आगमन से प्रफुल्लित हो उठा था। श्री राम के स्वागत में अयोध्यावासियों ने घी के दीपक जलाए। कार्तिक मास की सघन काली अमावस्या की वह रात्रि दीयों की रोशनी से जगमगा उठी। तब से आज तक भारतीय प्रति वर्ष यह प्रकाश-पर्व हर्ष व उल्लास से मनाते हैं। भारतीयों का विश्वास है कि सत्य की सदा जीत होती है झूठ का नाश होता है।
     दीवाली यही चरितार्थ करती है- असतो मा सद्गमय, तमसो मा ज्योतिर्गमय। दिवाली स्वच्छता व प्रकाश का पर्व है। कई सप्ताह पूर्व ही दिवाली की तैयारियाँ आरंभ हो जाती हैं। लोग अपने घरों, दुकानों आदि की सफाई का कार्य आरंभ कर देते हैं। घरों में मरम्मत, रंग-रोगन, सफेदी आदि का कार्य होने लगता है। लोग दुकानों को भी साफ-सुथरा कर सजाते हैं। बाजारों में गलियों को भी सुनहरी झंडियों से सजाया जाता है। दिवाली से पहले ही घर-मोहल्ले, बाजार सब साफ-सुथरे व सजे-धजे नजर आते हैं।

Diwali पूजा का महत्व (importance of Diwali). 

Diwali पर मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा की जाती है। मान्यताओं के अनुसार दीवाली के दिन मां लक्ष्मी की पूजा करने से घर में सुख-समृद्धि आती है। यह भी माना जाता है कि दीवाली के दिन देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा करने से धन की कमी नहीं होती हैं। पूरे साल मां की कृपा भक्तों पर बनी रहती है।
   दीवाली को अक्सर धन और खुशी से जोड़ा जाता है। हिंदू त्योहार से कुछ दिन पहले, लोग बड़े दिन की तैयारी के लिए अपने घरों या कार्यस्थलों को साफ करते हैं और सजाते हैं। दीपावली के दिन घरों को दीपों, मोमबत्तियों और दीयों से सजाया जाता है।

दीवाली क्यों मनाई जाती है? (why celebrated Diwali ? )

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भगवान राम जब लंका के राजा राक्षस रावण पर विजय पाकर 14 वर्ष बाद अयोध्या लौटे तो उनके सकुशल आगमन की खुशी में प्रजा ने अपने राजा का दीप जलाकर स्वागत किया था। चारों तरफ रौशनी ही रौशनी थी तभी से दीपावली मनाई जाती है।

दिवाली पर लक्ष्मी पूजा का मुहूर्त

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त : 18:10:29 से 20:06:20 तक
अवधि : 1 घंटे 55 मिनट
प्रदोष काल : 17:34:09 से 20:10:27 तक
वृषभ काल : 18:10:29 से 20:06:20 तक
अमावस्या तिथि प्रारम्भ : नवम्बर 04, 2021 को 06:03 बजे
अमावस्या तिथि समाप्त : नवम्बर 05, 2021 को 02:44 बजे

दिवाली पर निशिता काल मुहूर्त

निशिता काल : 23:39 से 00:31, नवम्बर 05
सिंह लग्न : 00:39 से 02:56, नवम्बर 05

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त स्थिर लग्न के बिना

अमावस्या तिथि प्रारम्भ : नवम्बर 04, 2021 को 06:03 बजे
अमावस्या तिथि समाप्त : नवम्बर 05, 2021 को 02:44 बजे

दिवाली शुभ चौघड़िया मुहूर्त

प्रातःकाल मुहूर्त्त (शुभ): 06:34:53 से 07:57:17 तक
प्रातःकाल मुहूर्त्त (चल, लाभ, अमृत): 10:42:06 से 14:49:20 तक
सायंकाल मुहूर्त्त (शुभ, अमृत, चल): 16:11:45 से 20:49:31 तक
रात्रि मुहूर्त्त (लाभ): 24:04:53 से 25:42:34 तक

लक्ष्मी की पूजा

दिवाली का त्योहार के शभु मुहूर्त में मां लक्ष्मी की पूजा। हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार, दीवाली पर लक्ष्मी की पूजा किए बिना त्योहार अधूरा रहता है। इससे घर में धन धान्य की वृद्धि होती है। पुजारियों के मुताबिक, इस साल दिवाली त्योहार पर प्रदोषयक्त अमावस्या तिधि और स्थिर लग्न और स्थिर नवांश है। ऐसे में शास्त्रों के अनुसार भी इस मुहूर्त में लक्ष्मी का पूजन बेहद शुभ है। मान्यता के मुताबिक, स्वच्छ तन और मन से लक्ष्मी की पूजा करें तो व्यक्क्त की हर इच्छा पूरी हो जाती है। हिंदू शास्त्रों के अनुसार, दीवाली की शाम को पूजा के बाद मां लक्ष्मी की आरती और मंत्रों का जाप करने से मन की हर इच्छा पूर्ण है।

माता लक्ष्मीजी के पूजन के दस मंत्र :

 दीपावली पर गणेश-लक्ष्मी के पूजन का विशेष महत्व है। ऐसी मान्यता है कि पूजन के समय दस मंत्रों का जाप करने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होकर जीवन को सुख-समृद्धि से पूर्ण करती हैं।

1-एकाक्षरी मंत्र 'श्रीं', इसका जप करके 1008 माला घी से हवन अथवा 51 माला रात्रि में जप करके हवन करें।

2-ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं अर्ह नम: महालक्ष्म्यै

3-ॐ श्रीं च विद्महे अष्ट ह्रीं च धीमहि तन्नो लक्ष्मी-विष्णु प्रचोद्यात।

4-ॐ ऐं श्रीं महालक्ष्म्यै कमल धारिण्यै गरूड़ वाहिन्यै श्रीं ऐं नम:।

5-ॐ ऐं ह्रीं श्रीं क्लीं सौं जगत्प्रसूत्यै नम:

6-ॐ ऐं क्लीं सौ:


7-ॐ ह्रीं श्रीं क्रीं क्लीं लक्ष्मी ममगृहे धनं पूरय चिन्ताम् दूरय स्वाहा।

8-ॐ ऐं क्लीं महालक्ष्म्यै नम:

9-ॐ ऐं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नम:

10-'ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्री महालक्ष्म्यै नम: धरणेंद्र पद्मावती सहिते हूं श्री नम:

इन 8 स्थानों पर दीपक रखना न भूलें


1- घर के मुख्य द्वार पर दीपक जरूर जलाना चाहिए क्योंकि माता लक्ष्मी द्वार से प्रवेश करती हैं और इसे फूलों से अच्छी तरह सजाना चाहिए।

2- भंडार गृह में दीपक जरूर जलाएं, इससे मां लक्ष्मी अत्यंत प्रसन्न होती हैं और घर में अन्न की कभी कमी नहीं रहती है।

3- घर की तिजोरी या धन रखे वाले स्थान पर दीपक जरूर रखें।

4- वाहन के पास भी सुरक्षित स्थान पर एक दीपक जरूर जलाएं। इससे दुर्घटना आदि से रक्षा होती है।

5- घर में हैंडपंप, कुआं या अन्य पानी के स्रोत के पास पूजने के बाद दीपक जरूर रखें।

6- घर के पास यदि मंदिर है तो एक दीपक जरूर रखें और मंदिर नहीं है तो घर के पूजाघर में रखें।

6- घर के पास यदि मंदिर है तो एक दीपक जरूर रखें और मंदिर नहीं है तो घर के पूजाघर में रखें।

7-पीपल के वृक्ष के पास दीपक जरूर रखें। पीपल में स्वयं भगवान विष्णु का वास होता है और उनकी पूजा करने से मां लक्ष्मी अत्यंत प्रसन्न होती हैं।

8-एक दीपक घर के आंगन में तुलसी के पास रखना चाहिए।

दीपावली के दिन करें ये उपाय, चमक उठेगी किस्मत


1. दीपावली अमावस्या को होती है इसलिए इस दिन पीपल के पेड़ में जल जरूर डालें. ऐसा करने से कुंडली के शनि और कालसर्प दोष मिट जाते हैं. इसके अलावा देर रात पीपल के पेड़ के नीचे तेल का दीया जलाएं. दीया जला कर सीधा घर आएं पीछे पलट कर न देखें.

2. दीपावली की पूजा उत्तर या फिर उत्तर-पूर्व दिशा में करें. पूजा करते वक्त लाल-पीले रंग के कपड़े पहनें. ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और बिगड़े काम आसानी से बनने लगते हैं.

3.  धन प्राप्ति चाहते हैं तो दिवाली के दिन घर के ईशान कोण में चांदी, तांबा या स्टिल के बर्तन में पानी भर कर रखें. तिजोरी को ऐसे रखें की उसका मुंह उत्तर दिशा की ओर खुले. तिजोरी में रखे गहनों, रुपयों को पीले या लाल वस्त्र में लपेट कर ही रखें. ऐसा करने से लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है. धन संबंधी परेशानी दूर होती है.

4. दीपावली के दिन नई झाड़ू से घर की अच्छी तरह से साफ-सफाई करें. सफाई के बाद झाड़ू को किसी ऐसी जगह पर छुपा कर रख दें जहां किसी की भी नजर झाड़ू पर न पड़े.

5. घर परिवार में लगातार कलह ओर लड़ाई झगड़े का माहौल हो तो दिवाली के दिन घर में विषम संख्या में घी के दीए जलाएं. इन दीयों की संख्या 11, 21, 31 कुछ ऐसी होनी चाहिए. ऐसा करने से परिवार में प्यार बढ़ेगा. कलह खत्म होगी.

जानिए राशि के अनुसार कैसा रहेगा आपके लिए दीपावली का त्यौहार


मेष राशि

आपका दिन अच्छा रहेगा। मित्रों के साथ रिश्ते पहले से बेहतर बनेंगे। घर में किसी धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन करवाने का प्लान बनायेंगे। आपका व्यवहार लोगों को प्रभावित करेगा।

वृष राशि


आपका दिन अच्छा रहेगा। जो छात्र घर से दूर रहकर कॉम्पिटिशन की तैयारी कर रहे हैं, उनका दिन बेहतर रहेगा। सरकारी नौकरी कर रहे लोगों को किसी काम के लिये प्रोत्साहन मिलेगा। अचानक धन लाभ होगा। आपको कोई अच्छी खबर मिलेगी, जिससे मन प्रसन्न रहेगा।

मिथुन राशि


आपका दिन अच्छा रहेगा। किसी दोस्त से बात-बात में ही कोई अच्छी सलाह मिलेगी। जीवनसाथी के साथ घूमने का प्लान बनायेंगे। रुका हुआ पैसा वापस मिलेगा। विद्यार्थियों के लिए दिन सफलता दिलाने वाला रहेगा।

कर्क राशि


आपका दिन बेहतर रहने वाला है। समय पर किया कार्य आपको लाभ दिलाएगा। कपड़े का व्यापार कर रहे लोगों को अच्छा मुनाफा होने वाला है। प्राइवेट नौकरी करने वालों को अपनी वाणी पर थोड़ा ध्यान रखने की जरूरत है। किसी भी काम को शुरू करने से पहले अपने सीनियर्स से सलाह अवश्य ही ले लें।

सिंह राशि

आपका दिन मिला-जुला रहेगा। अपने हर काम को तय समय में बांटकर करने से सफलता मिलेगी। कोई खास रिश्तेदार आपसे मिलने घर आयेंगे। माता के स्वास्थ्य में सुधार आयेगा।

कन्या राशि

आपको किसी ऐसे व्यक्ति से मिलने का मौका मिलेगा, जो आपके काम की नई शुरुआत में आपकी मदद करेगा। घर के कामों में पिता की मदद से आपके सारे कार्य आसानी से पूरे हो जायेंगे।

तुला राशि

आपका दिन मिला-जुला रहने वाला है। आप कार्यक्षेत्र में धन लाभ के नये स्त्रोतों की तलाश करेंगे। किसी काम के लिये कई दिनों से की जा रही मेहनत का फल आपको मिलेगा। संगीत से जुड़े लोगों को किसी अच्छे प्लेटफॉर्म पर जाने का अवसर मिलेगा।

वृश्चिक राशि


आपका दिन उत्तम रहेगा। जीवनसाथी के सहयोग से आपको जीवन में आगे बढ़ने का रास्ता मिलेगा। आप कोई नया व्यापार शुरू करने का मन बनायेंगे। नौकरी कर रहे लोगों के दिमाग में कार्यों को पूरा करने के लिए अलग-अलग प्लान आयेंगे। ऑफिस में सहयोगियों के साथ रिश्ते और मजबूत होंगे।

धनु राशि


आपका दिन शानदार रहेगा। कोई पुरानी बिजनेस डील अचानक लाभ दिलायेगी। आप किसी सामाजिक संस्था के काम में अपना सहयोग देंगे। किसी घरेलू काम को पूरा करने के लिये परिवारवालों के साथ बात करेंगे। सरकारी नौकरी कर रहे लोगों के लिए दिन बेहतरीन रहने वाला है। छात्रों के लिए दिन अच्छा रहने वाला है।

मकर राशि


आपका दिन सामान्य बना रहेगा। अगर आप कोई बड़ी बिजनेस डील करने जा रहे हैं, तो किसी अनुभवी व्यक्ति की मदद लेनी चाहिए। आपको किसी सरकारी काम को पूरा करने में समय लग सकता है। जो छात्र उच्च शिक्षा में दाखिला लेने के लिए परीक्षाएं दे रहे हैं, उन्हें मन-मुताबिक परिणाम के लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी।

कुंभ राशि


आपका दिन बहुत ही अच्छा रहने वाला है। आप जो भी काम शुरू करेंगे, उसमें सफलता जरूर मिलेगी। किसी मल्टीनेशनल कंपनी से नौकरी के लिए अच्छा ऑफर आएगा। जो छात्र विज्ञान में रुचि रखते हैं, उनका दिन अच्छा रहेगा। अचानक धन लाभ होने की सम्भावना है।

मीन राशि


आपका दिन बहुत ही उत्तम रहेगा। आप लोगों को अपनी बातों से प्रभावित करने में सफल होंगे। जो लोग राजनीति के क्षेत्र से जुड़े हैं, उन्हें सफलता मिलेगी। साथ ही आपको खूब मान-सम्मान भी मिलेगा। कुछ नये लोग आपसे जुड़ने की कोशिश करेंगे। छात्रों के लिए दिन बेहतरीन रहने वाला है।

Post a Comment

Previous Post Next Post